What is DBMS in Hindi – DBMS क्या है? पूरी जानकारी….

Hello दोस्तों ehindilearning मे आपका स्वागत है, आज के Article मे हम What is DBMS in Hindi DBMS क्या है? के बारे मे जानेंगे।

 

What is DBMS in Hindi (DBMS क्या होता है?)

Database Management System (DBMS) एक system software है जैसे MySQL, Oracle जिसका इस्तेमाल Database को manage और create करने के लिए किया जाता है।

DBMS की मदद से कोई भी यूजर Database मे data को create, read, update और delete कर सकते है।

यह मुख्य रूप से Database और end user या application programs के बीच interface प्रदान करता है जिससे यह सुनिश्चित करता है कि Data लगातार organize हो और आसानी से accessible हो।

जब इसको किसी application से data के लिए request प्राप्त होती है तो यह operating system को वह specific data प्रदान करने के लिए निर्देश देता है। यह user या applications को data को store या retrieve करने मे मदद करता है।

इसकी मदद से कोई भी user उसकी requirement के हिसाब से एक database तैयार कर सकता है। इसका इस्तेमाल data को table, schema, views और reports के form मे भी organize करने के लिए किया जाता है।

What is DBMS in Hindi

 

What is Database in Hindi

जब हम किसी भी चीज से related जोई data को collect करते है तो इस Data के collection को ही Database कहा जाता है।

 

Full form of DBMS

DBMS का पूरा नाम Database Management System है।

 

Examples of DBMS in Hindi

  • college के database मे admin, staff, students और faculty का data व्यवस्थित रहता है।
  • students के Database मे प्रत्येक student की जानकारी organize रहती है।
  • किसी course के database मे course की सारी जानकारी organize रहती है।

 

Characteristics of DBMS in Hindi

  • किसी भी information को manage और store करने के लिए server पर स्थापित digital repository का इस्तेमाल करता है।
  • security प्रदान करता है और redundancy को remove करता है।
  • programs और data abstraction के बीच insulation का काम करता है।
  • यह ACID Concept (Atomicity, Consistency, Isolation और Durability) को follow करता है।
  • multi-user environment को support करता है जो user को data को parallel manipulate करने को allow करता है।
  • DBMS मे auto backup और recovery procedure भी उपलब्ध है।
  • यह data के बीच complex relationship को reduce करता है।

 

Popular DBMS Software
  • MySQL
  • Microsoft Access
  • Oracle
  • PostgreSQL
  • dBASE
  • FoxPro
  • SQLite
  • IBM DB2
  • LibreOffice Base
  • MariaDB
  • Microsoft SQL Server

 

Types of DBMS in Hindi

  • Hierarchical Database
  • Network Database
  • Relational Database
  • Object-oriented Database
  • Graph Database
  • ER Model Database
  • Document Database

 

Hierarchical Database

इस database structure को 1960 के दशक मे IBM के द्वारा develop किया गया था। यहाँ पर डाटा parent-children relationship nodes मे store होता है।

यह tree-like structure होता है जिसमे इसमे मौजूद प्रत्येक record एक दूसरे से link रहता है। यहाँ पर डाटा hierarchically format मे store रहता है। यहाँ पर डाटा fields के collection के तौर पर store होता है जहां पर प्रत्येक field मे एक value मौजूद रहती है।

अगर हमको यहाँ पर data को retrieve करना है तो हमे इसके प्रत्येक structure (tree) को transverse करना पड़ेगा जब तक कि हमें desired data प्राप्त नहीं हो जाता है।

Examples:- IBM Information Management System (IMS) और Windows Registry

 

Network Database

नेटवर्क डेटाबेस स्ट्रक्चर को Charles Bachman के द्वारा invent किया गया था। यह entities के बीच relation बनाने के लिए network structure का इस्तेमाल करता है। इसका इस्तेमाल मुख्यतः computers के एक बड़े network के लिए किया जाता है। network database मे डाटा many-to-many relationship मे organize होता है।

Example:- Integrated Data Store(IDE), Integrated Database Management System (IDMS) और Univac DMS – 1100

 

Relational Database

यह database के सभी प्रकारों मे सबसे मुख्य प्रकार है। इस प्रकार के database मे data को table और columns के रूप मे store किया जाता है।

Example:- Oracle, SQL Server, MySQL और SQLite

 

Object Oriented Database

ऑब्जेक्ट ऑरिएन्टेड डेटाबेस को 1980 के दशक मे create किया गया था। यह object-oriented programming से संबंधित होता है और यह C++ और java के semantics (शब्दार्थ) को भी बढ़ाता है। object oriented database मे advance programming language objects की आवश्यकता होती है।

Object oriented database मे applications के लिए काम code की आवश्यकता होती है और code bases को आसानी से maintain किया जा सकता है। object developers किसी complete database application को बिना किसी भी ज्यादा effort के बहुत ही काम समय मे लिख सकते है।

Examples:- Delphi, Ruby, C++, Java, Python, Tornado Intersystem और Gemstone etc.

 

Graph database

यह NoSQL database होते है और यह semantic queries के लिए graphical structure का इस्तेमाल करते है। यहाँ पर डाटा nodes, edges और properties के form मे होता है जहां पर नोड record के समान होता है और edge दो nodes के बीच link का काम करती है और properties नोडस को दी जाने वाली additional information होती है।

Example:- Neo4j, Azure Cosmos DB, SAP, HANA और OrientDB

 

ER Model Database

Entity-Relation Model Database को Peter Chen के द्वारा 1976 मे develop किया गया था। इस प्रकार के database के टेबल मे प्रत्येक row object type के एक instance का प्रतिनिधित्व करती है और प्रत्येक column टेबल मे attribute type को represent करता है।

 

Documents Database

डॉक्यूमेंट डेटाबेस को NoSQL database के नाम से भी जाना जाता है। यहाँ पर डाटा को document के तौर पर store किया जाता है जो कि key values होती है। यह इसकी documents की storage और NoSQL properties के कारण भी पोपुलर है।

Example:- Amazon SimpleDB Apache Flink, IBM Informix और Azure DocumentDB

 

Application of DBMS in Hindi

 

SectorUse of DBMS
BankingCustomer Information, Account Activities, Payment Deposits, Loans etc.

 

AirlinesReservation, Schedule Information

 

FinanceSales, Information of Purchase of Stocks and Bonds
UniversitiesStudent Information, Course Registration, grades etc.
TelecommunicationCall Records, Monthly Bills, Balance Maintaining etc.
SalesStoring Customer, Product and Sales Information etc.
ManufacturingManagement of Supply Chain

 

Also Read:- Career in Software Engineering in India – Scop, Job, Colleges and Salary in Hindi

 

Components of DBMS in Hindi

 

  • Tables:- DBMS मे सारे data को Tables मे ही रखा जाता है। प्रत्येक टेबल row और column से मिलकर बनी होती है।

 

  • Field:- Table मे अंदर मौजूद प्रत्येक column को field कहते है।

 

  • Record:- DBMS मे table मे जो भी डाटा store किया जाता है उसको record कहते है।

 

  • Forms:- DBMS मे Data मे कोई भी संसोधन करने के लिए Forms का इस्तेमाल किया जाता है।

 

  • Queries:- जब आप Database मे अपनी जरूरत के हिसाब से किसी information को check करते है तो इसे query कहते है।

 

  • Report:- जब आप Database मे मौजूद data को print के तौर पर निकालते है तो उसको report कहते है।

 

 

Advantages of DBMS in Hindi
  • DBMS मे data को store या retrieve करने के लिए features मौजूद है।
  • DBMS एक ही प्रकार के Data का इस्तेमाल करके कई application की आवश्यकताओं को balance करता है।
  • Application Programmer कभी भी data के detail को expose नहीं कर सकते है।
  • data को store और retrieve करने के लिए यह powerful functions का इस्तेमाल करता है।
  • data Integrity और security प्रदान करता है।
  • यह application development के time को Reduce करता है।
  • DBMS मे automatic backup और recovery procedure का feature होता है।
  • इसमे ACID properties होती है जो कि data को failure की स्थिति मे healthy state मे रखती है।
  • यह data के बीच complex relationship को reduce करता है।
  • यह Data के manipulation और processing को support करता है।

 

Disadvantages of DBMS in Hindi
  • DBMS Software को run करने के लिये high speed के data processor और large memory size की आवश्यकता होती है।
  • यह disk के बहुत बड़े भाग को occupy कर लेता है।
  • Database management system मे complexity होती है।
  • एक समय पर एक ही program को बहुत सारे user के द्वारा इस्तेमाल करने पर data का loss भी हो सकता है।

 

Conclusion:-

आज के इस article के माध्यम से हमने आज के What is DBMS in Hindi के बारे मे विस्तार से जाना। आशा है कि यह article आपके लिए helpful रहा होगा। अगर आपको यह article पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर share कीजिए।

आप हमे comment के माध्यम से सुझाव दे सकते है। आप हमे email के माध्यम से follow भी कर सकते है जिससे कि हमारी नई article की जानकारी आप तक सबसे पहले पहुचे आप email के माध्यम से हमसे question भी पूछ सकते है।

 

2 thoughts on “What is DBMS in Hindi – DBMS क्या है? पूरी जानकारी….”

Leave a Comment