Career in Software Engineering in India – Scop, Job, Colleges and Salary in Hindi

Hello दोस्तों क्या आप कंप्यूटर या मोबाइल में गेम खेलना पसंद करते हैं? क्या आप जानते हैं कि उन खेलों को विकसित करने में कुछ programming language का उपयोग किया जाता है?

 

सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग के अध्ययन पाठ्यक्रम में, अध्ययन में विभिन्न प्रोग्रामिंग भाषाओं जैसे C, C++, Java, Python और .Net का प्रयोग किया जाता है। इन प्रोग्रामिंग भाषाओं का उपयोग विभिन्न प्रकार के सॉफ्टवेयर, एप्लिकेशन और गेम, आदि को डिजाइन करने के लिए किया जाता है।

 

तकनीकी रूप से एक कंप्यूटर वैज्ञानिक कंप्यूटिंग समस्याओं (बेहतर एल्गोरिदम, प्रोग्रामिंग लैंग्वेज और तरीकों, आदि) को हल करने के लिए नए और बेहतर तरीके से पता लगाता है। एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर उन एल्गोरिदम, भाषाओं और इस तरह के सॉफ्टवेयर सिस्टम को डिजाइन और निर्माण करने के लिए उपयोग करता है जो विश्वसनीय, भरोसेमंद, सहायक और गुणवत्ता के अन्य गुणों के साथ होते हैं।

 

सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग का क्षेत्र उन सभी लोगों के लिए उपयुक्त है जिनके पास रचनात्मक दिमाग है और कंप्यूटर प्रोग्राम का उपयोग करके कुछ नया विकसित करना चाहते हैं। आज सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग लगभग हर क्षेत्र में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। इसलिए(So) अगर आप भी एक Software Engineer बनने के बारे मे सोच रहे ही तो आज के इस आर्टिकल के माध्यम से हम सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग के स्कोप (Scope of Software Engineering in Hindi) के बारे मे जानने वाले है?

 

What is Software Engineering in Hindi

“सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग इंजीनियरिंग की शाखा है जो सॉफ्टवेयर के डिजाइन, विकास, कार्यान्वयन और रखरखाव से संबंधित है।”

Software Engineering के Syllabus में C, C++, Java, Python और .Net जैसी प्रोग्रामिंग भाषाओं का अध्ययन किया जाता है। इन सभी प्रोग्रामिंग भाषाओं को सॉफ्टवेयर के विकास, डिजाइन, कार्यान्वयन और सबसे महत्वपूर्ण रूप से रखरखाव के लिए नियोजित किया जाता है। ।

जब आप सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग का कोर्स कर लेते है तो आपको सॉफ्टवेयर इंजीनियर के रूप में जाना जाता हैं। सॉफ्टवेयर इंजीनियर का काम सॉफ्टवेयर के डिजाइन, विकास, परीक्षण और रखरखाव के लिए सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग के कोड को लागू करना है।

क्या आप जानते है? “सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग” शब्द का पहली बार एंथनी ओटिंगर (Anthony Oettinger ) द्वारा आविष्कार किया गया था और 1968 में इसका उपयोग सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग पर दुनिया के पहले सम्मेलन के लिए मार्गरेट हैमिल्टन (Margaret Hamilton ) के द्वारा किया गया था।

Software Engineering in India in Hindi

 

एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर के क्या क्या काम होते है?

  • नए Software Application के लिए अच्छी तरह से अनुकूलित और कुशल स्रोत कोड(Source Code) को Develop करना।
  • नए software tools का निर्माण करन और इसे पूरी तरह कार्यात्मक सॉफ्टवेयर सिस्टम के साथ कार्यान्वित करना।
  • किसी भी सॉफ्टवेयर Maintain और test करना और इस बात जा ध्यान रखना कि वह ठीक से काम कर रहा है।
  • किसी भी user की आवश्यकता के अनुसार कोई software develop करना और उस software को मैन्टेन रखना।
  • Users के लिए मौजूदा software मे upgrade करना।
  • जब किसी application का निर्माण किया जाता है तो उसके लिए प्रत्येक piece को design करना और यह सुनिश्चित करना कि सारे piece एक साथ कैसे काम करेंगे।
  • किसी application के निर्माण के लिए आवश्यक codes के Diagram और Models (Flowchart की तरह) बनाना जिसे programmers इस्तेमाल कर सके।

इसी तरह से एक सॉफ्टवेयर developer को बहुत काम करने होते है।

Also Read:- What is CSS in Hindi – CSS क्या है? पूरी जानकारी…

 

Software Engineering Courses in Hindi

Name of CoursesType of ProgrammeDuration
B.Tech. Software EngineeringBachelor Degree4 years
M.Tech. Software EngineeringMaster Degree2 years
ME in Software EngineeringMaster Degree2 years
M.Sc. in Software SystemsMaster Degree2 years
Ph.D. in Software EngineeringDoctoral Degree3 years
Diploma in Computer Programming and Software EngineeringDiploma Course2 to 3 years
Diploma in Software EngineeringDiploma Course3 years
Bachelor of Computer ApplicationsBachelor Degree3 Years

 

Eligibility for Computer Science Engineering in Hindi

UG Level:- छात्रों को अपने मुख्य विषयों के रूप में भौतिकी, रसायन विज्ञान और गणित (Physics, Chemistry और Mathematics) वाले किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से बारहवीं कक्षा की परीक्षा उत्तीर्ण करने की आवश्यकता होती है। इसके अलावा, उन्हें इन तीनों विषयों मे संयुक्त रूप से न्यूनतम कुल अंकों के रूप में 60 प्रतिशत सुरक्षित करने की आवश्यकता होती है।

PG Level:- छात्रों को डिग्री स्तर पर अध्ययन किए गए विषयों के कुल में पास प्रतिशत के साथ एक ही विशेषज्ञता में अपनी बीटेक (B. Tech) की डिग्री को पूरा करने की आवश्यकता होती है।

 

एक कुशल सॉफ्टवेयर इंजीनियर कैसे बने?

 

  • एक सफल सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए, आपको अपनी programming skills को बहुत अच्छी तरह से develop करना होगा।
  • अगर आप Software Engineering सीख रहे है तो आपको अपनी logical और analytical skills पर ध्यान देना चाहिए इनका software engineering सीखते समय बहुत योगदान होता है।
  • अलग अलग प्रोग्रामिंग भाषा को समझने के लिए आपको विविध ज्ञान और गतिशील दृष्टिकोण (Varied knowledge and dynamic approach ) भी महत्वपूर्ण है।
  • अपने client की requirement और समय पर काम को पूरा करने के लिए आपको अपने अंदर communication skill और teamwork की spirit को develop करना जरूरी है।
  • आपको किसी भी समस्या को कुशलता से हल करना चाहिए।
  • अगर आप एक अच्छे सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनना चाहते है तो आपको अलग अलग प्रोग्रामिंग भाषाओं की जानकारी होनी चाहिए।
  • एक कुशल सॉफ्टवेयर इंजीनियर को CASE (Computer Aided Software Engineering) Tools की जानकारी होनी चाहिए।

 

आप अगर एक अच्छे सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनना चाहते है तो आपको इसके लिए इन habits के साथ साथ बहुत habits को अपने अंदर develop करना पड़ेगा।

 

Software Engineering करने के लिए कुछ शीर्ष कॉलेज के नाम (Top Software Engineering Colleges in India)

1:- Indian Institute of Technology (IIT), Bombay

2:- IIT, Hyderabad

3:- IIT, Kharagpur

4:- IIT, Delhi

5:- IIT, Kanpur

6:- IIT, Madras

7:- IIT, Guwahati

8:- National Institute of Technology (NIT), Kurukshetra

9:- NIT, Durgapur

10:- Amity University, Gurgaon

11:- BITS Pilani

 

ये कुछ मुख्य शिक्षण संस्थान है जिनसे आप सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग की डिग्री प्राप्त कर सकते है साथ ही ऐसे बहुत सारे कॉलेज भी है जहां पर आप एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर की डिग्री भी प्राप्त कर सकते है।

 

Jobs and Career Scope of Software Engineer in Hindi

सॉफ्टवेयर और आईटी क्षेत्र भारत मे ही नहीं बल्कि दुनिया भर मे प्रचलित है।

 

आईटी उद्योगों के तेजी से बढ़ने के कारण आईटी और सीएस छात्रों की बहुत आवश्यकता है। सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग के क्षेत्र में पर्याप्त कैरियर विकल्प उपलब्ध हैं।

 

सॉफ्टवेयर इंजीनियरों के लिए सॉफ्टवेयर कंपनियों में बहुत सारी नौकरियां उपलब्ध हैं। सार्वजनिक क्षेत्र में सॉफ्टवेयर इंजीनियरों की भी जरूरत है। अच्छा अनुभव हासिल करने के बाद आप अपनी खुद की सॉफ्टवेयर फर्म शुरू कर सकते हैं। आप एक फ्रीलांसर के रूप में भी काम कर सकते हैं।

 

इससे आप सिर्फ नौकरी ही नहीं बल्कि शिक्षण क्षेत्र में भी अपना पेशा चुन सकते हैं।

 

आप सार्वजनिक और निजी क्षेत्र के बैंकों, स्कूल और कॉलेजों और वित्तीय संस्थानों में भी काम कर सकते हैं।

 

एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर के रूप में, आप ग्राहकों की आवश्यकताओं के अनुसार सॉफ्टवेयर के विकास और मरम्मत के लिए कंसल्टेंसी भी चला सकते हैं।

 

न केवल भारत में बल्कि विदेशों में भी सॉफ्टवेयर इंजीनियर के लिए बहुत Demand है।

 

Job Profile
System Database Administrator
Computer Programmer
Engineering Support Specialist
Data Warehouse Analyst
System Designer
Software Developer
Software Engineer
Lecturer/Professor
Computer Operator
Research Analyst

 

एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के बाद मे किन companies मे नौकरी कर सकता हूँ?

वैसे तो इस बारे मे हम डिस्कस कर चुके है कि एक software engineer बनने के बाद आपके लिए विकल्पों की कमी नहीं है लेकिन कुछ प्रसिद्ध companies भी है जहां पर आप एक software engineer के तौर पर काम कर सकते है:-

  • Infosys
  • Accenture
  • TCS
  • Persistent
  • Cognizant
  • IBM
  • Symantec
  • Microsoft
  • Fiserv
  • Google
  • Oracle
  • Wipro Ltd
  • HCL Infosystems Ltd
  • Tata Infotech Ltd

 

Salary of A Software Engineer in India in Hindi

आईटी क्षेत्र में, अनुभव रखने वाले व्यक्ति को बहुत अधिक महत्व दिया जाता है। एक बार जब आप अनुभव प्राप्त करते हैं, तो अच्छे वेतनमान के साथ एक अच्छी नौकरी मिलती है।

 

इंजीनियरिंग के क्षेत्र में एक फ्रेशर 3.5 से 4 लाख वार्षिक पैकेज के साथ शुरू कर सकता है, जबकि इस क्षेत्र में अच्छा अनुभव रखने वाले के व्यक्ति को बहुत अच्छा वेतन दिया जाता है आपने अक्सर ऐसे लोगों को देखा भी होगा जो इसी क्षेत्र से है और उनकी सैलरी बहुत ज्यादा है।

 

एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर की सैलरी भी उस इंडस्ट्री / कंपनी के अनुसार अलग-अलग हो सकती है, जिसके लिए वह काम कर रहा है और यूनिवर्सिटी से, जहां से उसने इंजीनियरिंग पूरी की है। इसलिए(So) इंजीनियरिंग करने के लिए विश्वविद्यालय चुनने के साथ-साथ काम करने के लिए कंपनी का चयन करते समय एक बुद्धिमान निर्णय लेना हमेशा बेहतर होता है।

 

Fee of Computer Science Engineering Course

 

स्नातक स्तर पर, कंप्यूटर विज्ञान इंजीनियरिंग पाठ्यक्रम के लिए पाठ्यक्रम शुल्क 80,000 रुपये और 1.20 लाख रुपये प्रति वर्ष के बीच भिन्न हो सकता है। यह फीस अलग अलग कॉलेज मे अलग अलग हो सकती है।

 

Conclusion

आज के इस article के माध्यम से हमने Software Engineering के बारे मे विस्तार से जाना। आशा है कि Heading का यह article आपके लिए helpful रहा होगा। अगर आपको यह article पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर share कीजिए।

आप हमे comment के माध्यम से सुझाव दे सकते है। आप हमे email के माध्यम से follow भी कर सकते है जिससे कि हमारी नई article की जानकारी आप तक सबसे पहले पहुचे आप email के माध्यम से हमसे question भी पूछ सकते है।

 

1 thought on “Career in Software Engineering in India – Scop, Job, Colleges and Salary in Hindi”

Leave a Comment