What is Process Management (in OS) in Hindi – प्रोसेस मैनेजमेंट…

Hello दोस्तों ehindilearning.com मे आपका स्वागत है आज के इस Article मे हम What is Process Management in Operating System in Hindi के बारे मे जानेंगे।

 

What is Process Management (in OS) in Hindi

जब किसी program का execution किया जाता है तो वह प्रक्रिया process कहलाती है। किसी भी process को पूरा होने के लिए इसे computer resources की आवश्यकता होती है।

computer system मे एक बार मे एक से ज्यादा process का execution किया जाता है जिनके लिए एक ही resource की आवश्यकता होती है, इसलिए operating system को इंन सभी processes और resources को अच्छी तरह से मैनेज करना पड़ता है।

कुछ resources ऐसी होती है जिनको एक process के द्वारा एक बार मे execute करने की आवश्यकता होती है जिससे की system मे consistency बनी रहती है अगर ऐसा नहीं होता है तो system मे inconsistency और Deadlock की परिस्थिति भी उत्पन्न हो सकती है।

Operating system इन processes को resource allocation और process schedular जैसे tasks के माध्यम से execute कर पाता है। जब कोई process कंप्युटर डिवाइस मेमोरी पर run होती है तो यह CPU (Central Processing Unit) का इस्तेमाल करती है। operating system को computer की विभिन्न processes को synchronize करना पड़ता है।

किसी process मे instructions का set होता है जिनको execute किया जाता है उनको हम Process Code कहते है। process मे कुछ data भी associate होता है जिसको execute किया जाता है इस data के execution के लिए आवश्यक resources को Process Components कहते है।

Also Read:- What is Linux Operating System in Hindi – लिनक्स क्या है? पूरी जानकारी…

 

Execution in Process Management in Hindi

Process Management मे निम्नलिखित tasks को execute किया जाता है:-

1:- CPU पर process और threads को schedule करना।

2:- यह user और system processes को create और delete करने का काम करता है।

3:- यह system पर चल रही processes को suspend और resume करता है।

4:- यह process synchronization के लिए mechanism प्रदान करता है।

5:- साथ ही यह process communication के लिए भी mechanism प्रदान करता है।

 

जब भी कोई प्रोग्राम memory मे load होता है यह process मे बदल जाता है इसे चार भागों मे बाटा जा सकता है:-

 

Components of Process Management in Hindi

Stack:- किसी भी process मे stack अस्थायी डाटा (temporary data) जैसे function parameter, return address और local variable को शामिल किया जाता है।

Heap:- यह किसी भी process को उसके run-time के दौरान allocate की गई dynamic memory होती है।

Text:- इसमे processor register के content और program counter की value द्वारा represent की गई current activity शामिल होती है।

Data:- इस section मे global और static variables शामिल होते है।

 

States of Process in Hindi

कोई भी process इसके Start होने से Complete होने तक विभिन्न चरणों से गुजरती है जो कि निम्नलिखित है:-

New:- जब किसी program को operating system के द्वारा main memory मे execution के लिए load किया जाता है तो यह new process कहलाती है।

Ready:- अब जब किसी program को main memory मे load कर दिया जाता है तो यह process बन जाता है अब जब भी process को create किया जाता है तो यह ready state मे होती है और assign होने के लिए CPU (Central Processing Unit) का wait करती है।

Running:- अब जो प्रोसेस ready state मे होती है उन्मे से किसी एक process को operating system के द्वारा चुन लिया जाता है। process को चुनने के लिए operating system कुछ algorithm काइस्तेमाल करता है। operating system के चुने जाने के बाद यह प्रोसेस running state मे आ जाती है।

Block या Wait:- जब कोई प्रोसेस running state मे होती है और इसके behaviors मे कोई change होता है या scheduling algorithm के कारण इसको wait या block state मे भी दल जा सकता है।

Completion या Termination:- जब कोई कोई process पूरी हो जाती है यानि कि इसका execution पूरा हो जाता है तब यह प्रोसेस termination state मे आ जाती है। इस process का सारा context इसके terminate होने के साथ ही operating system के द्वारा delete कर दिया जाता है।

Suspend Ready:- अब किसी program को secondary memory से main memory मे move किया जाता है लेकिन resources की कमी होने के कारण इस process की इस अवस्था को suspend ready state कहा जाता है।

ऐसा तब होता है जब main memory पहले से ही high priority वाली processes से भरी रहती है जिस कारण अगर किसी low priority वाली process को main memory मे move किया जाता है तो इसको resources की कमी के कारण operating system के द्वारा secondary memory मे भेज दिया जाता है

और main memory खाली होने के बाद इसको पुनः main memory मे move कर दिया जाता है।

Suspend Wait :- किसी समय ready queue से किसी process को remove करने के बजाय main memory मे जो blocked processes होती है जो किसी resource का wait कर रही होती है उनको secondary memory मे move कर दिया जाता है जिससे कि main memory मे अन्य process के लिए खाली जगह उपलब्ध हो जाती है।

 

Operations on the process in Hindi

Creation:- जब कोई process क्रीऐट होती है तो यह ready queue (main memory) मे move कर दी जाती है और यह execution के लिए तैयार होती है।

Scheduling:- अब जब किसी process को ready queue मे move किया जाता है तो यह पर पहले से और भी बहुत सारी प्रोसेस execution के लिए मौजूद होती है। operating system के द्वारा इन processes मे से किसी एक process को execution के लिए चुना जाता है जिसको हम scheduling कहते है।

Execution:- जब operating system के द्वारा किसी process को चुन लिया जाता है उसके बाद इस process को CPU (Central Processing Unit) मे execution किया जाता है।

Deletion/Killing:- अब एक बार process को complete हो जाने के बाद operating system इस process को delete कर देता है। process का context (PCB) को delete कर दिया जाता है और process को terminate कर दिया जाता है।

Also Read:- What is Interprocess Communication in Hindi – इंटरप्रोसेस कम्यूनिकेशन…

 

Context Switching क्या है?

किसी एक process के context को save करके दूसरी process के context के process को load करने की प्रक्रिया Context Switching कहलाती है।

 

Context Switching की आवश्यकता कब पड़ती है?

1:- जब कोई हाई प्राइऑरटी प्रोसेस ready state मे आती है।

2:- जब कोई interruption होता है।

3:- जब preemptive CPU scheduling का use होता है।

 

What is Process Control Block (PCB) in Hindi

PCB (Process control block) एक data structure होता है सभी process के लिए operating system के द्वारा maintain किया जाता है। process control block को integer process ID (PID) के द्वारा identify किया जाता है।

यह किसी भी process को track करने के लिए सभी information को maintain रखता है जो कि निम्नलिखित है:-

1:- Process State:- यह किसी भी process की current situation को बताता है।

2:- Process Privileges:- system resources के access को allow/disallow करने के लिए इसकी आवश्यकता होती है।

3:- Process ID:- यह operating system मे मौजूद सभी processes की unique identification होती है।

4:- Pointer:- यह parent process के लिए pointer होता है।

5:- Program Counter:- यह किसी execute होने वाली process के next instruction के address का pointer होता है।

6:- CPU Registers:- CPU Registers मे process को running state मे execution के लिए store किया जाता है।

7:- CPU Scheduling Information:- यहाँ पर किसी भी process को schedule करने के लिए आवश्यक information स्टोर रहती है।

8:- Memory Management Information:- इसमे page table, memory limits और segment table जैसी information मौजूद रहती है।

9:- Accounting Information:- यहाँ पर किसी process के execution के लिए CPU के द्वारा use होने वाले amount, time, limits और Execution ID की जानकारी मौजूद रहती है।

10:- IO Status Information:- इसमे किसी process को allocate की गई I/O devices की list होती है।

Conclusion

आज के इस article के माध्यम से हमने आज के What is Process Management in Operating System – in Hindi के बारे मे विस्तार से जाना। आशा है कि यह article आपके लिए helpful रहा होगा। अगर आपको यह article पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर share कीजिए।

आप हमे comment के माध्यम से सुझाव दे सकते है। आप हमे email के माध्यम से follow भी कर सकते है जिससे कि हमारी नई article की जानकारी आप तक सबसे पहले पहुचे आप email के माध्यम से हमसे question भी पूछ सकते है।   

 

2 thoughts on “What is Process Management (in OS) in Hindi – प्रोसेस मैनेजमेंट…”

Leave a Comment