What is Interprocess Communication in Hindi – इंटरप्रोसेस कम्यूनिकेशन…

Hello दोस्तों आज के इस ehindilearning.com मे आपका स्वागत है। आज के इस Article मे हम What is Interprocess communication in Hindi के बारे मे जानेंगे।

 

What is Interprocess Communication in Hindi

Interprocess Communication ऑपरेटिंग सिस्टम के द्वारा प्रदान किया गया mechanism (तंत्र) है जिसकी मदद से विभिन्न processes आपस मे एक दूसरे के साथ communicate कर पाती है।

इस प्रकार के communication एक process को involve किया जा सकता है जिसकी मदद से अन्य processes को पता चल सके कि कोई event हो चुका है या एक process से दूसरी process मे data का transfer हो चुका है।

दूसरे शब्दों मे कहें तो IPC प्रोग्रामिंग इंटरफेस का एक set है जो किसी programmer को operating system पर run हो रही विभिन्न program process के बीच coordinate करने की अनुमति देता है। इसकी मदद से कोई program एक समय मे बहुत सारी user request को handle कर सकता है।

Usually वह application इस method का use करती है जिनको Client and Server की category मे divide किया जा सकता है जहां पर clients वह होते है जो किसी भी प्रकार के data के लिए request करते है और server वह होते है जो client की request के लिए respond करते है।

यह microkernels और nanokernels मे design process मे बहुत महत्वपूर्ण योगदान देता है, यह kernel के द्वारा प्रदान की जाने वाली functionalities को reduce करता है।

बाद मे उन Functionalities को IPC के माध्यम से Server के साथ communication करके obtain कर लिया जाता है जिससे कि नियमित monolithic kernel की तुलना मे communication मे वृद्धि होती है।

 

Methods for Interprocess Communication in Hindi

Inteprocess Communication मे जब कोई दो process एक दूसरे के साथ communicate करते है तो वह निम्नलिखित दो method का इस्तेमाल करती है:-

1:- Shared Memory

2:- Message Passing

 

Approaches to Interprocess Communication in Hindi

 

Pipe:- यह एक data channel होता है जो कि unidirectional होता है। किन्ही दो process के मध्य two-way data channel को create करने के लिए दो pipes का इस्तेमाल किया जा सकता है, इसमे स्टैन्डर्ड input और output methods का इस्तेमाल किया जाता है। pipes का इस्तेमाल POSIX System और windows operating system मे किया जाता है।

Socket:- यह किसी network मे data को send करने या receive करने के लिए endpoint होता है। यह किसी एक computer की दो processes के बीच या दो computer की processes के बीच Data को भेजने के लिए बहुत अच्छा माध्यम है। बहुत सारे ऑपरेटिंग सिस्टम Interprocess communication के लिये socket का ही use करते है।

File:- यह Data का record होता है जो या तो disc मे save होता है या इसे file server की demand के अनुसार acquire किया जाता है। आवश्यकता होने पर multiple processes किसी एक file को access कर सकती है। सभी ऑपरेटिंग सिस्टम data storage के लिए files का इस्तेमाल करते है।

Signal:- यह किसी interprocess communication मे limited way मे useful होते है। ये system messages होते है जो किसी एक process से अन्य process को भेजे जाते है। signals का इस्तेमाल data जा transfer करने के लिए नहीं किया जाता है बल्कि इनका इस्तेमाल processes के बीच remote commands के लिए किया जाता है।

Shared Memory:- यह memory का वह प्रकार होता है जिसको एक साथ multiple processes के द्वारा इस्तेमाल किया जा सकता है इसके माध्यम से process एक दूसरे के साथ communicate भी कर पाती है। सभी POSIX System और लगभग सभी Windows Operating System इसका इस्तेमाल करते है।

Message Queue:- इसके माध्यम से बहुत सारी processes एक दूसरे से बिना connected हुए ही message queue मे data को लिख या पढ़ सकती है। यह मैसेज queue मे तब तक store रहते है जब तक इनके प्राप्तकर्ता के द्वारा इनको retrieve नहीं कर लिया जाता है। Messages queue इन्टरप्रोसेस कम्यूनिकेशन के लिए useful है और बहुत सारे operating systems के द्वारा इसको इस्तेमाल किया जाता है।

FIFO:- इसके माध्यम से दो unrelated processes के बीच communication होता है। यह full-duplex method है जिसकी मदद से first process किसी second process से communicate कर सकती है या second process, first process के साथ communicate कर सकती है।

 

Types of Interprocess Communication in Hindi

अगर हम interprocess communication की बात करे तो यह दो प्रकार की हो सकती है:-

 

Independent Process:- यह process का एक ऐसा प्रकार होता है जो किसी अन्य process के execution के दौरान affect नहीं होता है।

Cooperating Process:- इस प्रकार की process किसी अन्य process के execution के दौरान affect हो सकती है।

 

Inteprocess Communication मे जब कोई दो process एक दूसरे के साथ communicate करते है तो वह निम्नलिखित दो method का इस्तेमाल करती है:-

1:- Shared Memory

2:- Message Passing

 

Conclusion

आज के इस article के माध्यम से हमने आज के What is Interprocess Communication in Hindi के बारे मे विस्तार से जाना। आशा है कि यह article आपके लिए helpful रहा होगा। अगर आपको यह article पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर share कीजिए।

आप हमे comment के माध्यम से सुझाव दे सकते है। आप हमे email के माध्यम से follow भी कर सकते है जिससे कि हमारी नई article की जानकारी आप तक सबसे पहले पहुचे आप email के माध्यम से हमसे question भी पूछ सकते है।   

2 thoughts on “What is Interprocess Communication in Hindi – इंटरप्रोसेस कम्यूनिकेशन…”

Leave a Comment